OUR Services

OUR SERVICES

  1.  वाचनालय व पुस्तकालय- हिन्दी, अग्रेजी तथा उर्दू भाषा में प्रकाषित होने वाले राष्ट्रीय तथा क्षेत्रीय स्तर के 10 दैनिक  समाचार पत्र, धार्मिक, सामाजिक  तथा राजनैतिक महत्व  की मासिक/ पाक्षिक  पत्रिकायें  तथा अध्यात्मिक  ग्रन्थों  का संग्रह भी पढ़ने  के लिए उपलब्ध है।
  2. चिकित्सा सहायता- नियमित रूप में सप्ताह में एक दिन योग्य चिकित्सक  को बुलाकर  चिकित्सीय परामर्ष  तथा औषधि  वितरण  बिल्कुल निःषुल्क  किया जाता है। इसके अतिरिक्त  समय-समय पर ऑख, दांत, अस्थि  तथा उदर रोग विषेषज्ञों  को बुलाकर  चिकित्सा षिविरों का भी आयोजन किया जाता है।
  3. स्वल्पाहार- बुजुर्ग कुटीर अपने सदस्यों  को नियमित  रूप से  प्रतिदिन  संतसंग के समय सायं  स्वल्पाहार  वितरित करता है, जिसमें, दूध, चाय-बिस्कुट, हलवा, सूप, लस्सी अथवा अन्य का निर्धारण सदस्यों के परामर्ष से होता है।
  4. मनोवैज्ञानिक परामर्ष- परिवार, समाज अथवा सम्बन्धियों  के व्यवहार  से उपजे कुण्ठा, निराषा, एकाकीपन इत्यादि  के निराकरण हेतु मनोवैज्ञानिक  परामर्ष द्वारा संवेगात्मक सम्बल प्रदान कर परिवार में समायोजन स्थापित  करने का प्रयास किया जाता है।
  5. सामाजिक सहायता- सामाजिक तिरस्कार, पारिवारिक विच्छेद, उत्पीड़न आदि में ग्रस्त बुजुर्गो  को सामाजिक सहायता उपलब्ध करायी जाती है जिससे  वे अपनी समस्याओं का समाधान पा सकें।
  6. विधिक सहायता व परामर्ष- बुजुर्ग कुटीर के पास विधि विषेषज्ञों  की एक सक्षम व सुयोग्य समिति है जो आवष्यकता पड़ने पर वरिष्ठ नागरिको को उचित मार्ग दर्षन तथा न्यायलय  सम्बन्धी सहायता मुहैया कराती है।
  7. सतसंग व धार्मिक प्रवचन- बुजुर्ग कुटीर में नियमित रूप से प्रतिदिन विभिन्न धार्मिक शास्त्रों पर प्रवचन  सायंकाल होता है, सदस्यों की रोचकता की दृष्टि से पुराणों शास्त्रों, उपनिषदों इत्यादि का मासिक त्रैमासिक, पाक्षिक, पारायण भी रखा जाता है।
  8. बाह्य  यात्रायें- बुजुर्ग कुटीर में सदस्यों को समय-समय पर दर्षनीय स्थलों  के भ्रमण पर ले जाया जाता है तथा वर्ष  में एक बार धार्मिक यात्रा का भी आयोजन किया जाता है।
  9. शोध, परिचर्चा तथा आलेखन- बुजुर्ग कुटीर में वरिष्ठ नागरिकों में अन्तर्निहित बौद्धिक सम्पदा को जनहित में प्रयोग करने के लिए समय-समय पर विभिन्न क्षेत्रों के ज्वलन्त व संवेदनषील विषयों  पर विचार गोष्ठियों का आयोजन किया जाता है तथा वरिष्ठ नागरिकों के शोध पत्रों, आलेखांे व समाजोपयोगी विचारों का आलेखन  भी किया जाता है।
  10. बुजुर्ग महा सम्मेलन व चिकित्सा षिविर- उत्थान बुजुर्ग कुटीर द्वारा प्रतिवर्ष  अन्तर्राष्ट्रीय  बुजुर्ग दिवस के अवसर पर बुजुर्ग महासम्मेलन का आयोजन किया जाता है जिसमे नीति नियन्ताओं को आमन्त्रित कर वरिष्ठ नागरिकों  की समस्याओं  का निराकरण तथा नवीन कार्यक्रमों व नीति की समीक्षा भी करायी  जाती है। बृहद चिकित्सा षिविर  के अन्तर्गत विभिन्न रोगों  के विषेषज्ञ चिकित्सकों  को बुलाकर  वरिष्ठ नागरिकों  को लाभाविन्त कराया जाता है।
  11. पेषन निर्धारण व वितरण में सहायता- बुजुर्ग कुटीर में वरिष्ठ नागरिकों को पेन्षन  निर्धारण हेतु उचित मार्गदर्षन  व सहायता प्रदान की जाती है।  बुजुर्गो  की सुविधा की दृष्टि से बुजुर्ग कुटीर  कार्यालय  भगत सिंह पार्क, सरनी चौक में वार्ड 16,17 तथा 18 की पेन्षन  वितरित  करवाने की व्यवस्था की गई है।
  12. वरिष्ठ नागरिक सम्मान- बुजुर्ग कुटीर वरिष्ठ नागरिकों द्वारा समाज के नव निर्माण  व नूतन दिषा बोध के लिए किये जाने वाले रचनात्मक प्रयासों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए वरिष्ठ नागरिक सम्मान समारोहों का आयोजन  करता है जिसमें विभिन्न क्षेत्रों में उनके द्वारा किए गए उत्कृष्ट कार्यो हेतु उन्हें  सम्मानित किया जाता हैै।
  13. राष्ट्रीय व सामाजिक त्योहार-  बुजुर्ग कुटीर अपने सदस्यों में सहयोग व समन्वय की भावना को मजबूत करने व उन्हें सक्रिय बनाने हेतु समस्त राष्ट्रीय व कुछ सामाजिक त्योहारों जैसे नवरात्र, लोहड़ी, होली मिलन, दीपावली, रक्षा बन्धन आदि त्योहार मनाता है तथा चर्चाओं का आयोजन भी करता है।